जयपुर. राजस्थान के मुख्यमंत्री ने पंजाब में हाल में हुए सियासी उलटफेर के बीच पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को एक पत्र लिखकर आग्रह किया हैं कि वे ऐसा कोई कदम नहीं उठाएंगे जिससे कांग्रेस का नुकसान हो. पढ़िये क्या लिखा अशोक गहलोत ने –

मुझे उम्मीद है कि कैप्टन अमरिंदर सिंह जी ऐसा कोई कदम नहीं उठायेंगे जिससे कांग्रेस पार्टी को नुकसान हो। कैप्टन साहब ने स्वयं कहा कि पार्टी ने उन्हें साढे़ नौ साल तक मुख्यमंत्री बनाकर रखा है। उन्होंने अपनी सर्वोच्च क्षमता के अनुरूप कार्य कर पंजाब की जनता की सेवा की है।

हाईकमान को कई बार विधायकों एवं आमजन से मिले फीडबैक के आधार पर पार्टी हित में निर्णय करने पड़ते हैं।
मेरा व्यक्तिगत भी मानना है कि कांग्रेस अध्यक्ष कई नेता, जो मुख्यमंत्री बनने की दौड़ में होते हैं, उनकी नाराजगी मोल लेकर ही मुख्यमंत्री का चयन करते हैं।

परन्तु वही मुख्यमंत्री को बदलते वक्त हाईकमान के फैसले को नाराज होकर गलत ठहराने लग जाते हैं। ऐसे क्षणों में अपनी अर्न्तरात्मा को सुनना चाहिए।
मेरा मानना है कि देश फासिस्टी ताकतों के कारण किस दिशा में जा रहा है, यह हम सभी देशवासियों के लिए चिंता का विषय होना चाहिए।

इसलिए ऐसे समय हम सभी कांग्रेसजनों की जिम्मेदारी देश हित में बढ़ जाती है। हमें अपने से ऊपर उठकर पार्टी व देश हित में सोचना होगा।
कैप्टन साहब पार्टी के सम्मानित नेता हैं एवं मुझे उम्मीद है कि वो आगे भी पार्टी का हित आगे रखकर ही कार्य करते रहेंगे।

हालाकि अशोक गहलोत जिन फासिस्ट ताकतों के बारे में बात कर रहे हैं वो कहीं इस खेल में शामिल नही नजर आती परन्तु हो सकता हैं काँग्रेस अपने वरिष्ठ नेता अमरिंदर सिंह को खोने से पहले किसी प्रकार की भूमिका बना रही हो.

रिप्लाई छोड़े

Please enter your comment!
Please enter your name here